“कैल्शियम कार्बोनेट के इस्तेमाल” पृष्ठ

फिलर के तौर पर प्राकृतिक पाउडरों और तलछटी उत्पादों के सहित कैल्शियम कार्बोनेट का प्रयोग कई उद्योगों में बहुत अधिक किया जाता है; कुछ विशिष्ट gcc और pcc हैं, और कुछ अन्य साधारण हैं।

तलछट कैल्शियम कार्बोनेट (pcc) के सबसे महत्त्वपूर्ण इस्तेमाल कागज़, पेंट और सतह लेपण, प्लास्टिक, भिन्न चिपकाने वाले पदार्थ, पुट्टी सामग्रियां, पॉलिमर, रसायनिक उर्वरक, जानवरों का खाना, खाद्य उद्योग, औषधीय उद्योग, प्रसाधन सामग्री उद्योग इत्यादि हैं। इसकी शुद्धता के कारण, pcc gcc से अधिक उपयुक्त है।

माइक्रोनाइज़्ड कैल्शियम कार्बोनेट (gcc) के सबसे महत्त्वपूर्ण इस्तेमाल कागज़, पेंट और सतह लेपण, प्लास्टिक, भिन्न चिपकाने वाले पदार्थ, पुट्टी सामग्रियां, पॉलिमर, रसायनिक उर्वरक, जानवरों का खाना, खाद्य उद्योग, औषधीय उद्योग, प्रसाधन सामग्री उद्योग, कीटनाशक और विषैले तत्व, क्लीनरज़, शीशा और सैरेमिक्ज़, गैस डीसल्फराईज़ेशन और जल रिफाइनरी हैं।

पेंट उद्योग

कैल्शियम कार्बोनेट का मुख्य इस्तेमाल पेंट उद्योग में है; पायस पेंटों में रंग सामग्री के तौर पर यह पदार्थ Tio2 के लिए ज़रूरतों के कुछ हिस्सों का विकल्प हो सकता है।

प्रिंटिंग स्याही

कैल्शियम कार्बोनेट का प्रयोग भिन्न प्रकार की प्रिंटिंग स्याही के लिए किया जा सकता है; इस काम के लिए बारीक पिसे हुए कैल्शियम कार्बोनेट का प्रयोग किया जाता है।

प्लास्टिक और रबड़ उद्योग

इस उद्योग में, बहुत बारीक पिसे हुए कैल्शियम कार्बोनेट का प्रयोग किया जाता है; कैल्शियम कार्बोनेट पॉलिमर के जमाव की रोकथाम करता है और उनके फैलाव गुणों में सुधार करता है; इस सामग्री का सबसे महत्त्वपूर्ण प्रयोगकर्त्ता पोलीविनाइल क्लोराइड (PVC) है। चूंकि PVC एक ताप संवेदनशील थर्मोप्लास्टिक है, इसमें कोई निश्चित सम्मिश्रण मिलाया जाना चाहिए तांकि इसे तैयार उत्पाद बनाया जा सके। इन सामग्रियों को बढ़ाना PVC प्रक्रिया में और साथ ही इसकी कार्य क्षमता में बहुत महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उष्ण स्थिरकों का प्रयोग सभी PVC उत्पादों की प्रक्रिया में किया जाता है और यह उपयोग और कार्य क्षमता के संबंध में महत्त्वपूर्ण है। अन्य महत्त्वपूर्ण योजक जिनका प्रयोग किया जाता है, सॉफ्टनर, लुब्रीकेंट, प्रभाव प्रतिरोध संशोधक, फिलर, और रंग सामग्रियां हैं। इनफ्लेटर कारकों, ज्वलनशीलता-विरोधी सामग्रियों, फंगसरोधी सामग्रियों, स्थैतिक-विरोधी सामग्रियों आदि का प्रयोग करके विशेष गुण भी प्राप्त किये जा सकते हैं। चयनित पॉलिमर और इसको उल्लिखित योजकों के साथ मिलाने का ढंग प्रत्यक्ष रूप से उत्पाद के भौतिक अभिरूप, प्रोसेसिंग ढंग, और तैयार उत्पाद के गुणों की अपेक्षित किस्म पर निर्भर करता है। इस क्षेत्र में प्रयोग की जाने वाली सबसे पुरानी तकनीक एक कण मिश्रक या उच्च-गति के मिश्रक में राल और अन्य सामग्रियों को डालना, मिश्रण को एक रोलर में ट्रान्सफर करना, और फिर एक बनबरी मशीन या एक निरन्तर मिश्रक में डालना है जहाँ मिश्रण गर्म मिश्रण कार्य के अधीन हो जो कि उपर्युक्त प्रबन्ध के साथ संबंधित है। फिलर्ज़ का प्रयोग कीमतों को कम करने के लिए किया जाता है;  कैल्शियम कार्बोनेट एक फिलर है।

कैल्शियम कार्बोनेट के माइक्रोनाइज़्ड पाउडर का प्रयोग रबड़ के उत्पादों को समर्थ बनाने और इस प्रकार के उत्पादों को मज़बूत बनाने के लिए भी किया जाता है, और साथ ही दबाव और सख्त PVC के विशेष प्रभाव के विरुद्ध डैंपिंग और फ्रॉमेबिलिटी बढ़ाने के लिए किया जाता है। इस उद्योग में माइक्रोनाइज़्ड पाउडर की मात्रा 25% अनुमानित की जाती है।

इस उद्योग में माइक्रोनाइज़्ड पाउडर की विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

Cao, 97% से अधिक; Fe2O3, 3% से कम और इसका श्रेणीकरण 350 मेश से अधिक है।

कागज़ उद्योग

कैल्शियम कार्बोनेट को कागज़ उद्योग में कोटिंग सामग्री और एक फ़िल्टर माना जाता है; कागज़ उद्योग में कैल्शियम कार्बोनेट की मुख्य खपत सिगरेट के कागज़ बनाने में है; कुछ गुण जैसे कि सिगरेट के जलने को इस सामग्री के द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

प्रसाधन सामग्री उद्योग

शिशु पाउडर और टूथपेस्ट उत्पादक इन उद्योगों में कैल्शियम कार्बोनेट के प्रमुख उपभोक्ता हैं; शिशु पाउडर और बॉडी पाउडर में कैल्शियम कार्बोनेट का प्रयोग करने से चिपचिपाहट दूर हो जाती है, पाउडर की गतिशीलता सहज हो जाती है, और जज़्ब क्षमता बढ़ जाती है।

सफ़ाई सामग्रियाँ

कैल्शियम कार्बोनेट को पॉलिशर्ज़ और धातु क्लीनरज़ में जमाव सहकारी अंश के तौर पर प्रयोग किया जाता है। 

औषधीय उद्योग

इस उद्योग में, उचित-मानदंड वाले उच्च किस्म के कैल्शियम कार्बोनेट का प्रयोग किया जाना चाहिए; इस सामग्री का प्रयोग सिरप और एंटी-एसिड गोलियों को बनाने के लिए, निष्प्रभावीकरण और फिल्टरिंग सहायता के लिए एंटीबायोटिक दवाओं में, विलायक और बलकारक अंशों के तौर पर घुलनशील गोलियों में, और कैल्शियम के सेवन के स्रोत के तौर पर कैल्शियम की गोलियों में किया जाता है।

खाद्य उद्योग

खाद्य उद्योग में कैल्शियम कार्बोनेट का प्रयोग एसिड-निष्प्रभावीकरण कारक और च्यूइंग गम के उत्पादन के तौर पर किया जाता है।

फार्मेसी

कैल्शियम कार्बोनेट सादे पानी में लगभग अघुलनशील होता है और कुछ कार्बन डाइऑक्साइड या भारी अमोनियम लवणों के साथ पानी में धीरे-धीरे घुलता है। यह अल्कोहल में लगभग अघुलनशील होता है और एसिटिक एसिड, क्लोराइड एसिड और निट्रिक एसिड के साथ प्रतिक्रिया करता है।

एंटी-एसिडिक गुणों वाले कैल्शियम कार्बोनेट का प्रयोग गुर्दे संबंधी दोषों और अस्थि-सुषिरता के इलाज के लिए किया जाता है और यह कैल्शियम पूरकों के तौर पर काम करता है। कैल्शियम कार्बोनेट की अनुशंसा गुर्दे संबंधी दोषों के साथ संबंधित हाइपरफोसफेटमीया मरीज़ों के लिए की जाती है, क्योंकि फोसफेट के साथ जुड़ने के बाद, यह पेट और आंतों द्वारा फोसफेट के और अधिक जज़्ब को रोकता है।

कैल्शियम कार्बोनेट का प्रयोग होमियोपैथी दवाईयों (एक किस्म की फार्माकोथैरेपी) और खाद्य योजकों में भी किया जाता है। इसके अलावा, इसके जज़्ब गुणों के कारण, इसका प्रयोग दस्त-विरोधी दवाईयों में किया जाती है।

कैल्शियम कार्बोनेट गैस्ट्रिक एसिड के साथ प्रतिक्रिया करके कैल्शियम क्लोराइड में परिवर्तित हो जाता है, और पैदा हुई कार्बन डाइआक्साइड गैस कुछ मरीज़ों में पेट की फूलन उत्पन्न कर सकती है। कुछ कैल्शियम जठरांत्र ग्रंथ में जज़्ब हो जाता है, पर लगभग 85% कैल्शियम दोबारा कैल्शियम कार्बोनेट जैसे कैल्शियम लवणों के तौर पर बाहर निकल जाती है।

आम तौर पर, प्रत्येक बार, एक ग्राम कैल्शियम कार्बोनेट को अन्य एंटी-एसिडों विशेषतः मैग्नीशियम-युक्त एंटी-एसिडों के साथ एक एंटी-एसिड के तौर पर लिया जाता है।

केल्साइट खनिज का प्रयोग कैल्शियम क्लोराइड (CaCl2), कैल्शियम ब्रोमाइड (CaBr2), कैल्शियम आयोडाइड (CaI2), कैल्शियम ऑक्साइड (CaO) को बनाने में किया जाता है और प्रत्येक के औषधीय उद्योगों में कई इस्तेमाल हैं और यह पशु चिकित्सा संबंधी दवाइयों को बनाने में भी लाभदायक हैं।

कैल्शियम क्लोराइड (CaCl2) से एक ऐसी दवाई बनती है जो शरीर में तेज़ाब बनाती है, और उन मामलों में जहाँ कैल्शियम आयन तत्व कम है, कैल्शियम क्लोराइड का प्रयोग तुरंत कैल्शियम की कमी को पूरा करने में किया जाता है। कैल्शियम क्लोराइड औषधीय सामग्रियों का प्रयोग कुछ समस्याओं जैसे कि पित्ती, श्वासकष्ट, खुजलाहट और अन्य समस्याओं-युक्त जलन के प्रभावों का इलाज करने में किया जाता है।

कैल्शियम क्लोराइड खून के जमाव को तेज़ करता है और इसका प्रयोग भारी रक्त स्त्राव को रोकने में किया जाता है। इसके अलावा, इस पदार्थ को हृदय की धड़कन की अतालता का इलाज करने वाली हृदय विफलता-संबंधित दवाइयों में पूरक के तौर पर शामिल किया जाता है। कैल्शियम क्लोराइड का प्रयोग दस्त, उल्टी, और साथ ही टयूबरक्लोसिस के पसीने की समस्याओं का इलाज करने के लिए किया जाता है।

कैल्शियम ब्रोमाइड (CaBr2) का प्रयोग मिरगी के इलाज में एक आक्षेपरोधी दवाई के तौर पर किया जाता है। ये पेट-दर्द को भी कम करता है।

कैल्शियम आयोडाइड (CaI2) का प्रयोग त्वचा के लिए प्रज्वलन रोधी मरहमों को बनाने के लिए और पुराने गठिये के लिए किया जाता है।

कैल्शियम ऑक्साइड (CaO) को गाँठ और फोड़े को हटाने के लिए लाइमस्टोन बनाने के लिए बहुत अधिक प्रयोग किया जाता है। लाइमस्टोन को सल्फ्यूरिक एसिड और ऑक्सैलिक एसिड द्वारा हुए विषाक्तन के लिए एक विषनाशक के तौर पर प्रयोग किया जाता है।

उपर्युक्त कैल्शियम मिश्रणों को पशु चिकित्सा संबंधी दवाइयों को बनाने हेतु भी बहुत अधिक उपयोग किया जाता है।

कैल्शियम कार्बोनेट, कैल्शियम कार्बोनेट के मिश्रित पाउडर, मैग्नीशियम कार्बोनेट के मिश्रित पाउडर और टैबलेट की तरह है। साथ ही, एल्यूमिना, मैग्नीशिया, और कैल्शियम कार्बोनेट संसपेंशन, एल्यूमिना, मैग्नीशिया, और कैल्शियम कार्बोनेट टैबलेट, और कैल्शियम कार्बोनेट टैबलेट कैल्शियम कार्बोनेट के औषधि उत्पादों के अन्य उदाहरण हैं।

फिलर

सॉयल कैल्शियम कार्बोनेट और तलछटीय कैल्शियम कार्बोनेट का प्रयोग मुख्यतः कागज़, प्लास्टिक और पेंट उद्योगों में किया जाता है। कागज़ सेलूलोज़ सामग्री से बना होता है, और इसके फाइबर खनिज कणों से भरें होते है; कोटिंग पदार्थ कागज़ पर छपाई की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए उपयोग किये जाते हैं, और कैल्शियम कार्बोनेट उनका 50% बना सकते हैं।

कैल्शियम कार्बोनेट रंग के तौर पर काम कर सकता है, और यह पॉलिमरों की आवश्यकता को घटाता है, लिहाज़ा, PVC शीटों, पाइपों और खिड़कियों में, 5-35% संरचना कैल्शियम कार्बोनेट की होती है। पेंट उद्योगों में उपयोगी TiO2 की मात्रा को घटाने के लिए जलयुक्त रासायनिक पायसों या विलायक द्रवों की 10-35% मात्रा कैल्शियम कार्बोनेट से बनी हुई हो सकती है।

अन्य इस्तेमाल

  • कैल्शियम कार्बोनेट यूरेनियम, जिरकोनियम, थोरियम, और बेरिलियम जैसी कुछ धातुओं के निष्कर्षण में एक अपचायन कारक है।
  • इसका प्रयोग सभी प्रकार के लौह गैर-लौह एलॉयस के लिए डीऑक्सीजिनेशन, डीसल्फराईज़ेशन, या डीकारबराईज़ेशन के लिए किया जाता है।
  • इसका प्रयोग एल्यूमीनियम, बेरिलियम, तांबे, लेड और मैग्नीशियम एलॉयस के उत्पादन में एक एलॉय कारक के तौर पर किया जाता है।

कारक

  • इसका प्रयोग बेरिलियम के लिए अपचायन कारक के तौर पर किया जाता है।
  • इसका प्रयोग भिन्न प्रकार के तेल और पेट्रोलियम को निर्जल करने में किया जाता है।
  • इसका प्रयोग ट्यूबों और वेक्यूम सिलिन्डरों में किया जाता है।
  • इसका प्रयोग भिन्न प्रकार के कृषि उर्वरकों, कंक्रीट और दीवार प्लास्टर में किया जाता है।
  • कैल्शियम खोपड़ियों, हड्डियों, दांतों और पौधों की बनावट का एक आवश्यक अंश है।
  • इसका प्रयोग चीनी के कारखानों में किया जाता है:

चीनी के उत्पादन में, लाइमस्टोन का प्रयोग फॉसफेट मिश्रणों और जैविक तेज़ाबों के शुद्धीकरण और विभाजन के लिए किया जाता है। चुकन्दर का उपयोग करने वाले कारखानों में, प्रत्येक टन चीनी के लिए 250 किलोग्राम लाइमस्टोन का प्रयोग किया जाता है और गन्ने का उपयोग करने वाले कारखानों में, प्रत्येक टन चीनी के उत्पादन के लिए 2 से 7 किलोग्राम चूने का प्रयोग किया जाता है।

हिन्दी